Aawaz24 News
Aawaz24.com

BREAKING NEWS

कुछ समय बाद इन 8 राशियों पर रहेगी शनि की टेढ़ी नजर, रहना होगा सावधान

0 7,865,778

शनि के अशुभ प्रभावों से हर कोई भयभीत रहता है। शनि को ज्योतिष में पापी और क्रूर ग्रह कहा जाता है। शनि के अशुभ प्रभावों से व्यक्ति का जीवन बुरी तरह प्रभावित होता है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार जिन राशियों पर शनि की टेढ़ी नजर रहती है, उन्हें विशेष सावधान रहने की आवश्यकता होती है। ज्योतिष में 12 राशियों का वर्णन है। कुछ समय बाद इन 12 राशियों में से 8 राशियों पर शनि की टेढ़ी नजर रहेगी। आइए जानते हैं कुछ समय बाद किन राशियों को सावधान रहने की आवश्यकता है।

29 अप्रैल, 2022 को करेंगे शनि राशि परिवर्तन

शनि के राशि परिवर्तन को ज्योतिष में बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है। शनि ढाई साल में एक बार राशि परिवर्तन करते हैं। सभी ग्रहों में शनि सबसे धीमी चाल चलते हैं। शनि के राशि शनि के राशि परिवर्तन करने पर किसी राशि से शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या का प्रभाव खत्म हो जाता है तो किसी राशि पर शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या शुरू हो जाती है। 29 अप्रैल 2022 को शनि के कुंभ राशि में प्रवेश करते ही मीन राशि पर शनि की साढ़ेसाती और कर्क, वृश्चिक राशि पर शनि की ढैय्या शुरू हो जाएगी। इसके साथ ही धनु राशि से शनि की साढ़ेसाती और तुला, मिथुन राशि से शनि की ढैय्या हट जाएगी, लेकिन 12 जुलाई, 2022 में शनि एक बार फिर राशि परिवर्तन करेंगे, जिससे इन राशियों पर फिर से शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या शुरू हो जाएगी।

12 जुलाई, 2022 से शुरू होगी शनि की वक्री चाल

शनि 12 जुलाई, 2022 को वक्री हो जाएंगे, यानी इस दिन से शनि मकर राशि में उल्टी चाल चलेंगे। शनि के मकर राशि में प्रवेश करते ही एक बार फिर धनु राशि पर साढ़ेसाती और मिथुन, तुला राशि पर ढैय्या का प्रभाव शुरू हो जाएगा।
2022 में इन 8 राशियों पर रहेगी शनि की टेढ़ी नजर

धनु, तुला, मिथुन, मकर, कुंभ मीन, कर्क और वृश्चिक राशि पर 2022 में शनि की टेढ़ी नजर रहेगी। इन लोगों को अपना विशेष ध्यान रखना होगा।

शनि की टेढ़ी नजर की वजह से इन समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है

स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।
आर्थिक पक्ष कमजोर हो सकता है।
Numerology Predictions : मेहनती और अहंकारी होते हैं इन तारीखों पर जन्मे लोग, राहु का रहता है प्रभाव

शनि की टेढ़ी नजर से बचने के लिए करें ये आसान उपाय

रोजाना करें हनुमान चालीसा का पाठ
हनुमान जी की पूजा- अर्चना करने से शनि का अशुभ प्रभाव नहीं पड़ता है। हनुमान जी की कृपा प्राप्त करने के लिए रोजाना हनुमान चालीसा का पाठ करें।

शिवलिंग पर जल अर्पित करें
भगवान शिव की कृपा से शनि देव के अशुभ प्रभावों से बचा जा सकता है। भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए रोजाना शिवलिंग पर जल अर्पित करें।

Chanakya Niti : आर्थिक तंगी से हैं परेशान तो चाणक्य की ये बातें आपके लिए हैं काम की, दूर होगी धन की समस्या

शनि चालीसा और मंत्र का जप करें

शनि देव को प्रसन्न करने के लिए शनि चालीसा और शनि देव के बीज मंत्र का जप करें। शनि देव की पूजा- अर्चना करने से शनिदेव के अशुभ प्रभावों से बचा जा सकता है।
इस मंत्र का जप करें

ॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनैश्चराय नम:
(इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।)

Leave A Reply

Your email address will not be published.

x

COVID-19

India
Confirmed: 31,484,605Deaths: 422,022
x

COVID-19

World
Confirmed: 195,344,724Deaths: 4,179,566