Aawaz24 News
Aawaz24.com

BREAKING NEWS

भगोड़ा चोकसी बोला- भारत लौटना चाह रहा था, पर किडनैपिंग के बाद बदला इरादा

0 8,788,650

भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी डोमनिका में जमानत मिलने के बाद एंटीगुआ और बारबुडा पहुंच गया है। डोमनिका में गैरकानूनी तरीके से प्रवेश के आरोप में वह 52 दिन तक वहां पर हिरासत में रहा। एंटीगुआ और बारबुडा पहुंचने के बाद चोकसी ने कहा है कि वह अब तक अपनी बेगुनाही साबित करने के लिए भारत लौटने पर गंभीरता से विचार कर रहा था, लेकिन भारतीय एजेंसियों द्वारा “किडनैपिंग” के बाद, वह भारत में अपनी सुरक्षा के बारे में बेहद आशंकित है। बता दें कि भारत से फरार होने के बाद चोकसी 2018 से एंटीगुआ एवं बारबुडा में रह रहा है, उसने वहां की नागरिकता भी ले ली है।

‘यातना ने मेरी आत्मा पर निशान छोड़े हैं’
अपने वकील विजय अग्रवाल के जरिए एचटी के साथ साझा किए गए एक ऑडियो संदेश में, चोकसी ने कहा – “मैं घर वापस आ गया हूं लेकिन इस यातना ने मेरे दिमाग और मेरे शरीर बल्कि मेरी आत्मा तक पर निशान छोड़े हैं। मैं कभी सोच भी नहीं सकता था कि मेरा सारा कारोबार बंद करके और मेरी सारी संपत्तियां जब्त करने के बाद, भारतीय एजेंसियों मेरे अपहरण का प्रयास कर सकती हैं। मैंने इसके बारे में सुना था लेकिन मुझे कभी विश्वास नहीं हुआ कि वे इस हद तक जा सकते हैं।”

‘कभी नहीं सोचा कि भारतीय अधिकारी किडनैप करेंगे’
डोमिनिका हाई कोर्ट द्वारा सोमवार को इलाज के लिए एंटीगुआ लौटने की अनुमति के बाद ने कहा कि वह एंटीगुआ में अपने कानूनी अधिकारों का प्रयोग कर रहे थे जब कथित “अपहरण” हुआ। चोकसी ने कहा “इसके अलावा, मैंने कई बार कहा है कि मेरे खराब स्वास्थ्य के कारण मैं यात्रा करने में सक्षम नहीं हूं और भारतीय एजेंसयां यहां आकर मुझसे पूछताछ कर लें। लेकिन इस अमानवीय अपहरण की मुझे कभी उम्मीद नहीं थी”। बता दें कि चोकसी रहस्यमय तरीके से एंटीगुआ से लापता हो गए थे और वह अगले दिन 200 किमी दूर डोमिनिका में पाए गए, जिसके बाद उनके परिवार ने आरोप लगाया कि उन्हें भारत ने एंटीगुआ के अधिकारियों की मदद से किडनैप कर लिया था।
पौने 3 लाख रुपये की जमानत राशि पर छूटा
एंटीगुआ न्यूज रूम की खबर के मुताबिक अदालत ने 10 हजार ईस्टर्न कैरेबिनयन डॉलर (करीब पौने तीन लाख रुपये) जमानत राशि के रूप में देने के बाद चोकसी को एंटीगुआ जाने की अनुमति दी। वह हल्की हरी रंग की शर्ट और खाकी रंग के शॉर्ट पहने हुए था और चार्टर्ड विमान से एंटीगुआ एवं बारबुडा रवाना हुआ। वह डॉक्टरों द्वारा फिट घोषित किए जाने के बाद फिर डोमिनिका लौटेगा और मुकदमे का सामना करेगा। एंटीगुआ एवं बारबुडा के विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने हवाई अड्डे पर उससे मुलाकात की। वह जब लौटा तो उस वक्त प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक चल रही थी और उसके वापस आने की सूचना कैबिनेट को दी गई।

दिमाग की बीमारी से जूझ रहा चोकसी
कैबिनेट ने कहा कि एंटीगुआ एवं बारबुडा की रॉयल पुलिस फोर्स चोकसी के अपहरण के दावों और उसकी नागरिकता रद्द करने के मामलों की जांच जारी रखेगी और वहां की अदालतों में उसके प्रत्यर्पण का मामला चलता रहेगा। चोकसी ने जमानत मांगते हुए अपनी चिकित्सीय रिपोर्ट भी अदालत में पेश की थी, जिसमें ‘सीटी स्कैन भी शामिल था। रिपोर्ट में उसके ‘हेमाटोमा (मस्तिष्क से जुड़ी बीमारी) संबंधी स्थिति बिगड़ने की बात कही गई थी। चिकित्सकों ने ‘न्यूरोलॉजिस्ट और एक ‘न्यूरोसर्जिकल सलाहकार द्वारा चोकसी की चिकित्सा स्थिति की तत्काल समीक्षा कराने की सलाह दी थी। ‘सीटी स्कैन की रिपोर्ट 29 जून की है, जिस पर डोमिनिका के प्रिंसेस मार्गरेट हॉस्पिटल के चिकित्सकों येरंडी गाले गुटिरेज़ और रेने गिल्बर्ट वेरानेस ने हस्ताक्षर किए हैं। रिपोर्ट में कहा गया है, ”इलाज की ये सुविधाएं फिलहाल डोमिनिका में उपलब्ध नहीं हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

x

COVID-19

India
Confirmed: 31,769,132Deaths: 425,757
x

COVID-19

World
Confirmed: 199,593,285Deaths: 4,249,005