Aawaz24 News
Aawaz24.com

BREAKING NEWS

‘चुत्जपा’ को बढ़ावा देना गलत… जज ने दिया कलकत्ता HC के चीफ जस्टिस के खिलाफ आदेश

0 7,868,466

एक मामले की वर्चुअल सुनवाई के दौरान खराब कनेक्टिविटी होने पर सख्त टिप्पणियां करने वाले कलकत्ता हाई कोर्ट के जस्टिस सब्यसाची भट्टाचार्य ने अब उच्च न्यायालय के चीफ जस्टिस और कोर्ट प्रशासन के खिलाफ ही आदेश पारित कर दिया है। दरअसल 16 जुलाई को जिस मामले की सुनवाई करते हुए जस्टिस ने कनेक्टिविटी को लेकर टिप्पणी की थी, उसे चीफ जस्टिस ने डिविजन बेंच को ट्रांसफर कर दिया है। इसे लेकर ही उन्होंने चीफ जस्टिस और कोर्ट प्रशासन के खिलाफ आदेश पारित किया है। भट्टाचार्य ने 10 पन्नों के अपने आदेश में एक्टिंग चीफ जस्टिस राजेश बिंदल और कोर्ट प्रशासन की आलोचना की है।

जस्टिस भट्टाचार्य ने सोमवार को पारित आदेश में कहा कि कार्यवाहक चीफ जस्टिस या फिर चीफ जस्टिस रोस्टर बनाने के अधिकारी होते हैं और वह कोर्ट का प्रशासन तय करते हैं। लेकिन इस बात में संदेह है कि क्या वह अपनी प्रशासनिक क्षमता के तहत रातोंरात किसी मामले को दूसरी बेंच या जज को सौंप सकते हैं। जज ने कहा कि चीफ जस्टिस मास्टर ऑफ रोस्टर होते हैं, लेकिन इसका अर्थ मास्टर ऑफ ऑल नहीं हो सकता है। जज की ओर से दिया गए इस आदेश की कॉपी सोमवार रात को हाई कोर्ट की वेबसाइट पर भी अपलोड हुई है।

जज ने अपने आदेश में कहा कि मेरे आदेश पर असिस्टेंट कोर्ट ऑफिसर ने रजिस्ट्रार जनरल को बताया है कि उनके पास यह ताकत नहीं है कि वह यह तय कर सकें कि कौन सा केस किस बेंच को सौंपा जाएगा। जज ने अपने आदेश में गहरा तंज कसते हुए कहा, ‘चुत्जपा को शीर्ष संस्थानों में बढ़ावा नहीं मिलना चाहिए। लेकिन पारदर्शिता का अभाव समस्याएं पैदा करता है और यह न्यायिक व्यवस्था के लिए सही नहीं है।’
जज ने कहा कि मैं उस वक्त हैरान रह गया, जब मेरे अधिकारी ने बताया कि मैं जिस केस की सुनवाई कर रहा था, उसे डिविजन बेंच को सौंप दिया गया है। जज ने कहा कि यह फैसला भी कार्यवाहक चीफ जस्टिस के आदेश पर लिया गया, जो कोलकाता में पारिवारिक कारण से मौजूद नहीं थे। लेकिन वॉट्सऐप के जरिए यह जानकारी दी गई और वही मुझे भी फॉरवर्ड किया गया।

इस आर्टिकल को शेयर करें

Leave A Reply

Your email address will not be published.

x

COVID-19

India
Confirmed: 31,726,507Deaths: 425,195
x

COVID-19

World
Confirmed: 198,659,762Deaths: 4,233,250