Aawaz24 News
Aawaz24.com

BREAKING NEWS

पीएम किसान: 9 अगस्त को 9वीं किस्त मिलेगी या नहीं फौरन चेक करें नई लिस्ट, क्योंकि 50 लाख लाभार्थियों की लटक गई है पिछली किस्त

0 8,773,461

पीएम किसान सम्मान निधि 2021 की दूसरी और योजना शुरू होने से अबतक की 9वीं किस्त 9 अगस्त को किसानों के खाते में आ जाएगी, लेकिन अभी 50 लाख से ज्यादा किसान ऐसे हैं, जिनकी पिछली किस्त ही लटकी है। यानी कम से कम 50 लाख किसानों की 9 अगस्त को जारी होने वाली 2000 रुपये की किस्त उनके खाते में क्रेडिट होने की उम्मीद कम है। इन किसानों में आपका नाम है या नहीं, आपको अगस्त-नवंबर वाली किस्त मिलेगी या नहीं, यह जानने के लिए सबसे पहले आप पीएम किसान सम्मान निधि योजना 2021 की नई लिस्ट चेक करें। ये आप घर बैठे ही चेक कर सकते हैं।

अगली किस्त मिलेगी या नहीं, ऐसे चेक करें लिस्ट
स्टेप-1: वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाएं।
स्टेप-2: होम पेज पर मेन्यू बार देखें और यहां ‘फार्मर कार्नर’ पर जाएं।
स्टेप-3:यहां ‘लाभार्थी सूची’ के लिंक पर क्लिक करें।
स्टेप-4:इसके बाद अपना राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव विवरण दर्ज करें
स्टेप-5:इतना भरने के बाद Get Report पर क्लिक करें और पाएं पूरी लिस्ट

उत्तर प्रदेश के करीब 6 लाख किसानों की लटकी किस्त

पीएम किसान पोर्टल पर दिए गए ताजा आंकडों के मुताबिक पेमेंट फेल होने और लटकने के मामले में उत्तर प्रदेश नंबर दो पोजीशन पर है। यहां के विभिन्न कारणों से 138,154 किसानों का पेमेंट फेल हो गया है और 5,99,405 की किस्त लटक गई है। वहीं, पश्चिम बंगाल के 14, 31,369 किसानों की किस्त लटकी हुई है और यह टॉप पर है।बता दें हर वित्त वर्ष में पहली किस्त के रूप में सरकार 2000 रुपये 1 अप्रैल से 31 जुलाई, दूसरी किस्त 1 अगस्त से 30 नवंबर और तीसरी किस्त 1 दिसंबर से 31 मार्च के बीच भेजती है। ये किस्तें किसानों के खाते में डायरेक्ट ट्रांसफर कर दी जाती है।

अपात्र भी उठा रहे योजना का लाभ

इन छोटी-छोटी गलतियों और अपात्रों द्वारा पीएम किसान का लाभ लेने पर राज्य सरकारें सख्ती बरत रही हैं। देश में 42 लाख से अधिक अपात्र किसान सम्मान निधि पा रहे हैं। ये वो किसान हैं, जिनके परिवार में कोई इनकम टैक्स देता है या फिर पति-पत्नि दोनों लाभ ले रहे हैं। अपात्र लोग फर्जी दस्तावेज, या स्थानीय स्तर के अधिकारियों की मिलीभगत और आय छुपाकर पात्र किसान होने का दावा कर किस्त उठा रहे हैं। वैसे तो अपात्र लाभार्थियों की इस बड़ी संख्या में सबसे ज्यादा 3, 86,000 गलत खाते या फर्जी आधार वालों की है। दूसरे नंबर पर इनकमटैक्स पेयर्स हैं। इनकी संख्या 2,34,010 है। वहीं 32,300 लाभार्थी ऐसे हैं, जो पहले ही स्वर्ग सिधार गए हैं। इसके बावजूद हर साल 2000-2000 की तीन किस्तें उठा रहे हैं। वहीं अन्य वजह से अपात्रों की संख्या भी 57,900 है।

क्यों अटकी है किस्त

सरकार की तरफ से अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करने के बावजूद किसानों के अकाउंट में नहीं पहुंचने की सबसे बड़ी वजह आपके आधार, अकाउंट नंबर और बैंक अकाउंट नंबर में गलती का होना। इसके अलावा बैंक खाते के नाम और आधार कार्ड पर दर्ज नाम की स्पेलिंग में मिसमैच करना या फिर गलत IFSC कोड का भरा जाना। अगर आपने भी ऐसी गलती की है तो आपकी किस्त अटक सकती है।

इन्हें नहीं मिलेगी किस्त

वकील, डॉक्टर, सीए आदि भी इस योजना से बाहर हैं। पीएम किसान सम्मान स्कीम का लाभ अब उन्हीं किसानों को मिलेगा, जिनके नाम पर खेत होगा। मौजूदा या पूर्व सांसद, विधायक, मंत्री उन्हें पीएम किसान योजना का लाभ नहीं मिलता। अगर कोई व्यक्ति खेत का मालिक है, लेकिन उसे 10000 रुपये महीने से अधिक पेंशन मिलती है तो वह भी इस योजना का पात्र नहीं है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

x

COVID-19

India
Confirmed: 33,448,163Deaths: 444,838
x

COVID-19

World
Confirmed: 227,865,874Deaths: 4,682,908