Aawaz24 News
Aawaz24.com

BREAKING NEWS

अचानक प्रशांत किशोर के लिए क्यों बैटिंग करने लगे वीरप्पा मोइली, G-23 को बताया बेकार

0 876,563

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सरकार में केंद्रीय मंत्री वीरप्पा मोइली ने बड़ा बयान दिया है। एक तरफ मोइली ने पार्टी के कुछ नेताओं पर जी-23 यानी असहमत नेताओं के ग्रुप का गलत इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है वहीं उन्होंने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर को कांग्रेस में शामिल करने की भी पैरवी की है। वीरप्पा मोइली ने यहां तक कह दिया कि जो नेता प्रशांत किशोर को कांग्रेस में शामिल ककरना का विरोध कर रहे हैं वे ‘सुधार विरोधी’ हैं। बता दें कि मोइली खुद भी उन 23 नेताओं में शामिल थे, जिन्होंने बीते साल सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखकर संगठनात्मक बदलाव की मांग की थी।

समाचार एजेंसी पीटीआई को दिए इंटरव्यू में पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘कुछ लोगों ने जी-23 का दुरुपयोग किया। सोनिया जी ने जैसे ही पार्टी के भीतर सुधार करने का विचार किया और वह भी जमीनी स्तर से, तब से हमने जी-23 की अवधारणा को नकार दिया। पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व में सुधारों की शुरुआत होने के साथ ही जी-23 की कोई भूमिका नहीं रह गई और वह अप्रासंगिक हो गया है। अगर वे (कुछ नेता) इसपर (जी-23 के साथ) कायम रहते हैं तो इसका मतलब है कि उनमें से कुछ का कांग्रेस पार्टी के खिलाफ काम करने का निहित स्वार्थ है, जोकि हम नहीं सोचते और असल में इसका विरोध करते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘हममें से कुछ लोगों ने इस पत्र पर हस्ताक्षर केवल पार्टी के अंदर सुधारों के लिए और उसके पुनर्निर्माण के लिए किए थे, इसे बर्बाद करने के लिए नहीं।’

मोइली की इन टिप्पणियों का महत्व इसलिए है क्योंकि जी-23 के कई नेताओं ने या तो इससे दूरी बना ली है या पिछले साल उनके लिखे गए पत्र के बाद से चुप हो गए हैं। सोनिया गांधी को पत्र लिखने वाले 23 नेताओं के उस समूह में से जितिन प्रसाद भाजपा में शामिल हो गए हैं। जी -23 में शामिल कुछ नेता हाल ही में कपिल सिब्बल के आवास पर सामाजिक समारोहों में एक साथ नजर आए थे और कथित तौर पर पार्टी के मुद्दों पर चर्चा की थी। एक समारोह में सिब्बल ने कई विपक्षी नेताओं को भी अपने आवास पर आमंत्रित किया था।

किशोर के कांग्रेस में शामिल होने की अटकलों के बारे में पूछे जाने पर मोइली ने कहा कि यह सही होगा कि वह कांग्रेस में शामिल हों और भीतर से सुधारों को लागू करें। मोइली ने कांग्रेस में किशोर के शामिल होने का विरोध कर रहे पार्टी के लोगों से ऐसा नहीं करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि ऐसा देश और कांग्रेस के लिए जरूरी है कि पार्टी में सुधार हो और कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी की मंशा भी यही है। सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी किशोर को शामिल करने पर अंतिम फैसला लेंगी और इस मुद्दे पर कई वरिष्ठ नेताओं के साथ चर्चा कर चुकी हैं।

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें लगता है कि किशोर को शामिल करना पार्टी के लिए फायदेमंद होगा, मोइली ने कहा कि चुनावी रणनीतिकार ने साबित कर दिया है कि वह रणनीति बनाने में सफल रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘बाहर से काम करने के बजाय अगर वह पार्टी में शामिल होते हैं तो यह काफी फायदेमंद होगा।’

इस आर्टिकल को शेयर करें

Leave A Reply

Your email address will not be published.

x

COVID-19

India
Confirmed: 33,448,163Deaths: 444,838
x

COVID-19

World
Confirmed: 227,865,874Deaths: 4,682,908