Aawaz24 News
Aawaz24.com

BREAKING NEWS

चिंताजनक : कोरोना से ठीक हुए मरीजों पर आया नया संकट, गॉल ब्लैडर में मिला गैंगरीन

0 664,779

कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके पांच मरीजों के गॉल ब्लैडर में गैंगरीन पाया गया है। राजधानी में यह अपनी तरह का पहला मामला है। सर गंगाराम अस्पताल में इस तरह के पांच मरीजों की सर्जरी की गई है। इन सभी की उम्र 37 से 75 साल के बीच है। इनमें चार पुरुष और एक महिला शामिल है। यह पहली बार है जब कोरोना से ठीक हो चुके लोगों में इस तरह की परेशानी देखने को मिली है।

अस्पताल में इंस्टीट्यूट ऑफ लिवर एंड गेस्ट्रोएंट्रोलॉजी डिपार्टमेंट के प्रफेसर डॉ. अनिल अरोड़ा ने बताया कि जून से अगस्त के बीच गॉल ब्लैडर गैंगरीन के मरीज देखे गए हैं। उन्हें तत्काल सर्जरी की जरूरत थी। यह शायद पहली बार है, जब कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों में ऐसी समस्या देखी गई है। गैंगरीन में हमारे ऊतक सड़ जाते हैं और धीरे-धीरे घाव बन जाता है। जिस तरह से एक कोयले और लकड़ी में अंतर होता है, इसी तरह हमारे सामान्य ऊतक और गैंगरीन होने के बाद के उत्तक में अंतर होता है।

गॉल ब्लैडर गैंगरीन के पांच मरीजों में दो को डायबिटीज थी और एक को हार्ट से जुड़ी समस्या भी थी। अन्य तीन को कोविड के इलाज में स्टेरायॅड दिया गया था। जब मरीज अस्पताल आए तो सभी को बुखार दर्द और उल्टी जैसे लक्षण थे।

क्या लक्षण दिखे

इन मरीजों में बुखार, दर्द और उल्टी जैसे लक्षण देखे गए थे। अस्पताल में आने पर जब इनकी जांच की गई तो गॉल ब्लैडर में गैंगरीन की पुष्टि हुई।

परेशानी दिखने पर जांच कराएं

अस्पताल के पैथोलॉजी के डॉक्टर शशि धवन ने कहा कि कोविड से ठीक हो चुके मरीजों में बुखार, दर्द या उल्टी के लक्षण नजर आएं तो उन्हें जल्द से जल्द डॉक्टर के पास जांच करवानी चाहिए ताकि समय रहते इलाज मिल सके और मरीज की जान बच सके। इससे पहले गंगाराम अस्पताल में कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों के लिवर में पस पड़ने के मामले आए थे।

इस आर्टिकल को शेयर करें

Leave A Reply

Your email address will not be published.

x

COVID-19

India
Confirmed: 34,175,468Deaths: 454,269
x

COVID-19

World
Confirmed: 243,130,118Deaths: 4,942,404