Aawaz24 News
Aawaz24.com

BREAKING NEWS

भारत बंद LIVE : केजरीवाल बोले- अगर आजाद भारत में भी किसानों की नहीं सुनी जाएगी तो फिर कहां सुनी जाएगी

0 5,766,679

गुरुग्राम : भारत बंद को लेकर गुरुग्राम के कमला नेहरू पार्क के बाहर प्रदर्शन करते हुए ट्रेड यूनियन के कार्यकर्ता।
केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानून का विरोध कर रहे किसान संगठनों का भारत बंद अभियान सोमवार को सुबह 6:00 बजे शुरू हो गया है। करीब 40 संगठनों के संयुक्त किसान मोर्चा ने सोमवार सुबह 6:00 बजे से शाम 4:00 बजे तक देशभर में जगह-जगह धरने और प्रदर्शन का ऐलान किया है। एनसीआर के इलाकों में भी बंद का व्यापक असर देखा जा रहा है। दिल्ली की सीमाओं पर भारी जाम देखा जा रहा है। किसान संगठनों ने कहा है कि वे कई स्थानों पर राष्ट्रीय राजमार्गों पर आवागमन को रोकेंगे। कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दलों ने किसानों के भारत बंद का समर्थन किया है। उधर, केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसानों से आंदोलन का रास्ता छोड़कर बातचीत से मुद्दे का समाधान निकालने की अपील की है।

किसानों के आज के विरोध प्रदर्शन की घोषणा को देखते हुए जगह जगह यातायात बाधित होने की आशंका है। हरियाणा, उत्तर प्रदेश तथा दिल्ली सहित कई अन्य राज्यों की पुलिस ने स्थिति से निपटने के लिए विशेष प्रबंध किए हैं।

– भारतीय किसान यूनियन (भानु) के अध्यक्ष भानु प्रताप सिंह ने भारत बंद को लेकर राकेश टिकैत पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि टिकैत खुद को ‘किसान नेता’ कहते हैं और फिर भारत बंद की घोषणा करते हैं, जो अर्थव्यवस्था और किसानों को प्रभावित करता है। इससे किसी का भला भी कैसे होता है? वे इसी तरह की गतिविधियों को जारी रखते हुए तालिबान के नक्शेकदम पर चलना चाहते हैं…”।

– भारत बंद पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज कहा कि ये दुख की बात है कि उनके (शहीद भगत सिंह) जन्मदिवस पर किसानों को भारत बंद का आह्वान करना पड़ रहा है। अगर आजाद भारत में भी किसानों की नहीं सुनी जाएगी तो फिर कहां सुनी जाएगी? मैं केंद्र सरकार से अपील करता हूं कि जल्द से जल्द उनकी मांगे मानें।

– दिल्ली के प्रवेश द्वार पर पुलिस चेकिंग के कारण नोएडा से दिल्ली की ओर जाने वाले डीएनडी पर भारी ट्रैफिक जाम है।

– नोएडा में भारत बंद को लेकर किसानों के समर्थन में जिला न्यायालय में वकीलों ने की हड़ताल, आज न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे वकील।

– किसानों के भारत बंद के समर्थन में यूपी गेट पर पहुंचे दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी को किसानों ने वापस लौटाया।

– नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर परी चौक के पास ग्रेटर नोएडा की ओर जाने वाला रास्ता किसानों ने बंद किया।

– गुरुग्राम से दिल्ली जाने वाले हाईवे पर लगा लंबा जाम, रजोकरी बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस कर रही है वाहनों की चेकिंग।

– दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे पर दिल्ली पुलिस द्वारा बैरिकेडिंग लगाकर रास्ता बंद किया गया।
– एनएच 9 पर काले खा से लाल कुआं की और जाने वाली सड़क पर किसानों ने किया कब्जा। मुरादनगर दुहाई ईस्टर्न पेरिफेरल पुल के नीचे एकत्रित होने लगे किसान।

– पलवल : भारत बंद को लेकर पलवल में किसानों ने दिल्ली-आगरा हाईवे को जाम कर दिया है। किसान हाईवे की दोनो लेन पर बैठ गए हैं। पुलिस ने ट्रैफिक को डायवर्ट करना शुरू कर दिया है। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात है।

– गाजियाबाद में सीबीआई एकेडमी के सामने बैठे धरने पर किसानों ने चार बजे से पहले उठने से इनकार किया। एसडीएम समझाने का प्रयास कर रहे हैं।

– यूपी गेट पर भारत बंद के दौरान नहर रोड पर जाम लगा।

– मोदीनगर। भारत बंद को लेकर राज चोपले पर किसानों ने जाम लगाया।

– लालकिला के दोनों कैरिजवे को बंद कर दिया गया है छत्ता रेल और सुभाष मार्ग दोनों साइड से बंद है।

– किसानों के विरोध के चलते यूपी से गाजीपुर की ओर यातायात बंद कर दिया गया है।

– पुस्ता मार्ग, लोनी रोड, आनंद विहार, अप्सरा बॉर्डर, टिकरी कापसहेड़ा पर वाहनों का दबाव।

– बीकेयू राकेश टिकैत ने कहा कि एम्बुलेंस, डॉक्टर या आपात स्थिति में जाने वाले लोग गुजर सकते हैं। हमने कुछ भी सील नहीं किया है, हम केवल एक मैसेज देना चाहते हैं। हम दुकानदारों से अपील करते हैं कि वे अपनी दुकानें अभी बंद रखें और शाम 4 बजे के बाद ही खोलें। बाहर से यहां कोई किसान नहीं आ रहा।

– विकास मार्ग से ITO रेडलाइट पर वेटिंग टाइम बढ़ा, बाहरी रिंग रोड पर सराय काले खां से राजघाट के बीच वाहनों का दबाव, मुख्य वजीराबाद रोड पर जाम।

– ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर वाहनों की आवाजाही बंद, डासना टोल पर पुलिस तैनात।

– पलवल में किसानों ने बाजारों में घूम-घूमकर 11 बजे से 2 बजे तक बाजार बंद करने का आह्वान किया

– किसानों ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे पर दिल्ली से आनी वाली लेन को बंद किया। एक्सप्रेस वे पर बैठे किसान।

– हापुड़ चुंगी पर जाम लगाएंगे किसान। पुलिस ने आरडीसी फ्लाईओवर से हापुड़ चुंगी तक सड़क बंद की। परिवर्तित मार्ग से वाहनों का आवागमन हुआ शुरू।

– भारत बंद को लेकर गुरुग्राम और फरीदाबाद में पुलिस अलर्ट। फरीदाबाद-बदरपुर बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस ने बैरिकेडिंग की।

– गुड़गांव में भारत बंद के दौरान सदर बाजार में कुछ दुकानें खुली हैं तो कुछ बंद पड़ी हैं।

– यूपी गेट पर किसानों के बंद को देखते हुए मेरठ से गुरुग्राम जा रहे किडनी के मरीज को काफी चक्कर काटने पड़े। पुलिस ने मरीज की सुविधा के लिए डासना में मेरठ एक्सप्रेसवे से उतार कर हापुड़ चुंगी, नागद्वार और तुलसी निकेतन के रास्ते रोहिणी की ओर ग्रीन कॉरिडोर बनाकर एंबुलेंस को निकाला। हालांकि, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे छोड़ने की वजह से गाजियाबाद की ही सीमा में एंबुलेंस को सात मिनट का अतिरिक्त समय लग गया।

– भारत बंद के आह्वान के तहत मोदीनगर, दुहाई और डासना में भी बैरिकेडिंग की गई। सुबह 10 बजे के करीब किसान आएंगे। फिलहाल ट्रैफिक चल रहा है। सुबह साढ़े नौ बजे पुलिस सड़क बंद कर देगी।

– भारत बंद का गाजियाबाद के बाजारों में कोई असर नहीं है। सब्जी मंडी, घंटाघर से लेकर किराना मण्डी तक खुले हैं।

दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर पर चेकिंग से लगा जाम

गुरुग्राम : भारत बंद के आह्वान पर सोमवार को दिल्ली-जयपुर हाईवे स्थित सरहौल बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस की एक बार फिर सख्ती देखने को मिली। गुरुग्राम से दिल्ली में प्रवेश कर रहे लोगों की जांच करने के बाद ही दिल्ली में प्रवेश मिला। ऐसे में गुरुग्राम क्षेत्र में हाइवे पर दो किलोमीटर लंबा जाम लग गया। जिसके कारण लोगों को जाम में 15 से 20 मिनट का इंतजार करना पड़ा। गुरुग्राम पुलिस द्वारा सोशल मीडिया पर जाम के बारे में सूचित कर दूसरे वैकल्पिक रास्तों का इस्तेमाल करने की सलाह दी गई। ऐसे में सुबह ऑफिस जाने वाले लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। जाम के कारण लोगों को एयरपोर्ट पहुंचने और ऑफिस पहुंचने में देरी हुई।

भारत बंद का गुरुग्राम जिले में खास असर देखने को नहीं मिला। सभी ऑफिस और सरकारी कार्यालयों में आम दिनों की तरह कामकाज हुआ। इसके अलावा शहर के बाजार भी खुले हुए थे और लोग खरीददारी करने के लिए दुकानों पर पहुंच रहे थे। हालांकि, ट्रेड यूनियन और संयुक्त किसान मोर्चा ने सदर बाजार में मार्च निकालकर लोगों से दुकानें बंद कर भारत बंद में शामिल होने का आग्रह भी किया।

दिल्ली पुलिस ने बढ़ाई गश्त, अतिरिक्त जवानों को किया तैनात

दिल्ली पुलिस ने आज के भारत बंद के मद्देनजर राजधानी के सीमावर्ती इलाकों में गश्त बढ़ा दी है और अतिरिक्त जवानों को तैनात किया है। पुलिस के अनुसार, राजधानी में प्रवेश करने वाले हर वाहन की पूरी जांच की जा रही है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि बंद के मद्देनजर सोमवार को राजधानी में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था की है। अधिकारी ने कहा कि शहर की सीमाओं पर तीन विरोध प्रदर्शन स्थलों से किसी भी प्रदर्शनकारी को दिल्ली में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

पुलिस उपायुक्त (नई दिल्ली) दीपक यादव ने कहा कि भारत बंद के मद्देनजर एहतियात के तौर पर सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं। सीमावर्ती इलाकों में जांच चौकियों को मजबूत किया गया है और इंडिया गेट एवं विजय चौक सहित सभी महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों में पर्याप्त तैनाती की जाएगी। एक अधिकारी ने कहा कि शहर में कोई विरोध-प्रदर्शन आयोजित किए जाने के बारे में अभी तक कोई सूचना नहीं है, लेकिन किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए सभी एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं। हम पूरी तरह से सतर्क हैं। दिल्ली में भारत बंद का कोई आह्वान नहीं है, लेकिन हम घटनाक्रम पर नजर रख हुए हैं और पर्याप्त संख्या में कर्मी तैनात रहेंगे।

बाहरी जिले के एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि किसी भी प्रदर्शनकारी को दिल्ली में दाखिल होने की अनुमति नहीं दी जाएगी और दिल्ली के टीकरी बॉर्डर पर किसानों के धरने के बाद से जिले में पहले से ही अतिरिक्त बलों को तैनात किया गया है। हालांकि, सीमावर्ती इलाकों के गांवों से दिल्ली को जोड़ने वाली सभी सड़कों की कड़ी जांच की जा रही है। सभी वाहनों की पिकेट पर पूरी तरह से जांच की जा रही है।

हरियाणा पुलिस ने जारी की एडवाइजरी

हरियाणा पुलिस ने रविवार को कहा कि विभिन्न किसान संगठनों द्वारा 27 सितंबर को बुलाए गए भारत बंद के मद्देनजर शांति-व्यवस्था बनाए रखने के लिए व्यापक बंदोबस्त किए गए हैं। पुलिस ने एक एडवाइजरी में कहा कि सोमवार को बंद के कारण लोगों को राज्य की विभिन्न सड़कों और राजमार्गों पर यातायात में व्यवधान का सामना करना पड़ सकता है।

हरियाणा पुलिस के एक प्रवक्ता ने कहा कि राज्य सरकार के निर्देशों के अनुसार हरियाणा में नागरिक और पुलिस प्रशासन द्वारा व्यापक बंदोबस्त किए गए हैं। उन्होंने कहा कि इन व्यवस्थाओं का प्राथमिक उद्देश्य सार्वजनिक शांति और व्यवस्था बनाए रखना, किसी भी तरह की हिंसा को रोकना और राज्य भर में यातायात और सार्वजनिक परिवहन प्रणालियों के संचालन को सुविधाजनक बनाना है।

अस्पताल, मेडिकल स्टोर, राहत और बचाव कार्य सहित सभी जरूरी सेवाओं को छूट

किसान मोर्चा ने इससे पहले लोगों से बंद में शामिल होने की अपील की थी। मोर्चा ने हाल में जारी एक बयान में कहा था कि इस ऐतिहासिक संघर्ष के दस महीने पूरे होने पर एसकेएम ने केंद्र सरकार के खिलाफ सोमवार (27 सितंबर) को भारत बंद का आह्वान किया है। बयान में कहा गया था कि एसकेएम हर भारतीय से इस देशव्यापी आंदोलन में शामिल होने और भारत बंद को व्यापक रूप से सफल बनाने की अपील करता है। विशेष रूप से, हम कामगारों, व्यापारियों, ट्रांसपोर्टरों, कारोबारियों, विद्यार्थियों, युवाओं और महिलाओं तथा सभी सामाजिक आंदोलनों के संगठनों से उस दिन किसानों के साथ एकजुटता दिखाने की अपील करते हैं।

इस दौरान पूरे देश में सभी सरकारी और निजी कार्यालय, शैक्षणिक और अन्य संस्थान, दुकानें, उद्योग और वाणिज्यिक प्रतिष्ठान के साथ-साथ सार्वजनिक कार्यक्रम और अन्य कार्यक्रम बंद रहेंगे। इसमें कहा गया था, अस्पताल, मेडिकल स्टोर, राहत और बचाव कार्य सहित सभी आपातकालीन प्रतिष्ठानों और आवश्यक सेवाओं और व्यक्तिगत आपात स्थितियों में भाग लेने वाले लोगों को छूट दी जाएगी।

गौरतलब है कि देश के विभिन्न हिस्सों, विशेष रूप से पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान, पिछले साल नवंबर से दिल्ली की सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शनकारी तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे हैं, जिसको लेकर उन्हें डर है कि इससे न्यूनतम समर्थन मूल्य प्रणाली को खत्म कर दिया जाएगा तथा उन्हें बड़े कॉर्पोरेट की दया पर छोड़ दिया जाएगा। हालांकि, सरकार तीन कानूनों को प्रमुख कृषि सुधारों के रूप में पेश कर रही है। दोनों पक्षों के बीच 10 दौर से अधिक की बातचीत गतिरोध को तोड़ने में विफल रही है।

इस आर्टिकल को शेयर करें

Leave A Reply

Your email address will not be published.

x

COVID-19

India
Confirmed: 34,624,360Deaths: 470,530
x

COVID-19

World
Confirmed: 264,722,033Deaths: 5,241,976