Aawaz24 News
Aawaz24.com

BREAKING NEWS

सुपरटेक एमराल्ड केस : दोनों टावर के गिराने के काम में फिर लग गया अड़ंगा

0 6,766,675

सुपरटेक बिल्डर की लापरवाही के कारण एक बार फिर टावर गिराने के काम में अड़गा लग गया है। सोमवार को बिल्डर की ओर से तय की गई कंपनियों को प्रस्तुतिकरण देना था लेकिन यह प्रस्तुतिकरण नहीं हो सका। संबंधित कंपनियां पूरी योजना तैयार नहीं कर सकीं। इसके अलावा बिल्डर ने आसपास की सोसाइटियों से जुड़ी कुछ और जानकारी प्राधिकरण से मांगी है। ऐसे में अब और समय लगेगा।

सुपरटेक एमराल्ड मामले में दोनों टावर (सियान और एपेक्स) को गिराने का काम बिल्डर को करना है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत यह काम 30 नवंबर तक किया जाना है लेकिन करीब पौने दो महीने का समय बीत चुका है लेकिन अभी तक कुछ नहीं हुआ है। टावरों को गिराने के लिए सुपरटेक की और से आधा दर्जन कंपनियों को चुना गया था। इसमें एक कंपनी को पहले ही प्राधिकरण ने रिजेक्ट कर दिया था। यह कंपनी विदेश की है जो निर्माण को ध्वस्त करने में ज्यादा समय की मांग कर रही थी। दो और कंपनियों को प्लानिंग में संशोधन के लिए कहा गया है। वहीं, चार और कंपनियां अपना प्रजेंटेशन प्राधिकरण को देंगी। कंपनियों को पूरी कार्ययोजना के साथ करीब 15 दिन पहले प्रस्तुतिकरण दे देना चाहिए था, जो अभी तक नहीं हो सका।

ध्वस्त करने से लेकर मलबा हटाने पर खर्च होने वाली धनराशि सुपरटेक को ही वहन करनी है। प्राधिकरण ने बताया कि ध्वस्तीकरण से पहले कंपनी को प्रदूषण विभाग, यातायात विभाग, एक्सप्लोसिव विभाग के अलावा अन्य विभागों से एनओसी भी लेनी होगी। ध्वस्तीकरण से पहले सुरक्षा के लिहाज से अन्य टावरों को भी खाली कराया जा सकता है क्योंकि अन्य टावरों की दोनों टावरों से दूरी भी मानकों के मुताबिक नहीं है।

इस आर्टिकल को शेयर करें

Leave A Reply

Your email address will not be published.

x

COVID-19

India
Confirmed: 34,624,360Deaths: 470,530
x

COVID-19

World
Confirmed: 264,722,033Deaths: 5,241,976