Aawaz24 News
Aawaz24.com

BREAKING NEWS

IPO के लिए ‘चालाकी’ पड़ेगी भारी, इस गलती पर हो सकता है ऑर्डर रिजेक्ट

0 656,572

कई ऐसे निवेशक होते हैं जो आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के जरिए कमाई करना चाहते हैं। यही वजह है कि बीते कुछ महीनों में निवेशकों के बीच आईपीओ को लेकर दिलचस्पी बढ़ी है। हालांकि, आईपीओ भी पूरी तरह से किस्मत का खेल है। किस्मत सही है तो आईपीओ अलॉट होगा लेकिन कई बार निवेशकों की ‘चालाकी’ की वजह से भी अलॉटमेंट नहीं हो पाता है। ये ‘चालाकी’ आईपीओ के रिजेक्शन का एक बड़ा कारण बन सकता है।

ना करें ये गलती: कई बार निवेशक आईपीओ को कंफर्म करने के लिए अलग-अलग डीमैट अकाउंट से आवेदन करते हैं। इस वजह से आर्डर रिजेक्ट हो जाता है। दरअसल, एक पैन कार्ड नंबर से सिर्फ एक ही आर्डर एक्सेप्ट होता है। कहने का मतलब ये है कि अलग-अलग डीमैट अकाउंट से आवेदन करने से पहले ये सुनिश्चित कर लें कि कहीं पैन कार्ड नंबर एक तो नहीं है।

यूपीआई मेंडेड जरूर करें: आईपीओ के लिए आवेदन करने के बाद जरूर यूपीआई मेंडेड कर दें। ये एक तरह से ग्राहक द्वारा आईपीओ के पैसे काटने की इजाजत देना होता है। यूपीआई मेंडेड के बाद आपके अकाउंट में पड़े आईपीओ के पैसे होल्ड हो जाते हैं।

आ रहे कई आईपीओ: आने वाले दिनों में एक के बाद एक कई आईपीओ आने वाले हैं। इनमें एलआईसी, अडानी विल्मर जैसी कंपनियां शामिल हैं। बता दें कि गो फैशन इंडिया लिमिटेड का आईपोओ आज से खुला है। यह 22 नवंबर को बंद होगा। यानी आज से तीन दिन तक इसमें निवेश किया जा सकता है।

इस बीच, भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने आईपीओ से जुड़े नियमों को सख्त करने का प्रस्ताव दिया है। बाजार नियामक ने इस प्रस्ताव पर 30 नवंबर तक जनता की राय मांगी है। सेबी ने एंकर निवेशकों के लिए लंबे समय तक लॉक-इन करने का सुझाव दिया है। सेबी के मुताबिक एंकर निवेशकों को आवंटित शेयरों की संख्या में से कम से कम 50 फीसदी शेयर लॉक-इन होना चाहिए। 30 दिनों से ऊपर 90 दिनों या उससे अधिक का लॉक-इन रखने की सिफारिश की गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

x

COVID-19

India
Confirmed: 34,572,523Deaths: 468,554
x

COVID-19

World
Confirmed: 260,698,085Deaths: 5,191,438