Aawaz24 News
Aawaz24.com

BREAKING NEWS

मोदी सरकार बेच रही सस्ता सोना, जानें कब, कहां और कैसे मिलेगा

0 56,652

सोने की बढ़ती कीमतों के बीच मोदी सरकार एक बार फिर आपको बाजार रेट से सस्ता सोना बेचने जा रही है। बता दें यह गोल्ड फिजिकल रूप में नहीं मिलेगा। सोना अंतरराष्ट्रीय बाजार में तीन महीने के उच्च स्तर पर है जबकि घरेलू बाजार में करीब 48,000 रुपये प्रति 10 ग्राम स्तर पर बना हुआ है।

वित्त वर्ष 2021-22 के लिए सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की पहली बिक्री 17 मई यानी सोमवार से शुरू होकर पांच दिन तक खुली रहेगी। वित्त मंत्रालय ने बुधवार को एक बयान में बताया कि सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड मई से लेकर सितम्बर के बीच छह किस्तों में जारी किए जाएंगे। वित्त वर्ष 2021-22 की पहली किस्त के तहत 17 से 21 मई के बीच खरीद की जा सकेगी और 25 मई को बांड जारी किए जाएंगे।

 

सीरीज 2021-22 अवधि
पहली 17 से 21 मई
दूसरी 24 से 28 मई
तीसरी 31 मई से 4 जून
चौथी 12 से 16 जुलाई
पांचवीं 9 से 13 अगस्त
छठवीं 30 अगस्त से 3 सितंबर

यहां से खरीदें

मंत्रालय के मुताबिक बांड स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड, नामित डाकघरों और मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंजों, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज लिमिटेड के माध्यम से बेचे जाएंगे। लघु वित्त बैंक और भुगतान बैंकों को बॉन्ड बेचने की अनुमति नहीं होगी।  भारत सरकार की तरफ से ये बॉन्ड रिजर्व बैंक द्वारा जारी किये जायेंगें

ऐसे तय होगा रेट, मिलेगी 500 रुपये की प्रति 10 ग्राम की छूट

वित्त मंत्रालय ने बताया कि सोने के बॉन्ड का दाम इंडिया बुलियन एण्ड ज्वैलर्स एसोसिएशन लिमिटेड द्वारा जारी दाम के सामान्य औसत भाव पर होगा। यह दाम निवेश की अवधि से पहले के सप्ताह के अंतिम तीन कारोबारी दिवस के दौरान 999 शुद्धता वाले सोने का औसत भाव होगा। बॉन्ड खरीदने के लिये ऑनलाइन या डिजिटल माध्यम से भुगतान करने वालों को बॉन्ड के दाम में 50 रुपये प्रति ग्राम की छूट मिलेगी। बॉन्ड की अवधि आठ वर्षों की होगी जिसमें पांच साल बाद अगले ब्याज भुगतान की तिथि पर बॉन्ड से हटने का भी विकल्प होगा। स्वर्ण बॉड में निवेश एक ग्राम के मूल यूनिट के अनुरूप किया जा सकेगा। कम से कम एक ग्राम सोने के लिये निवेश करना होगा।

कितना खरीद सकते हैं

बयान के अनुसार कोई भी व्यक्ति और हिंदू अविभाजित परिवार अधिकतम चार किलोग्राम मूल्य तक का बॉन्ड खरीद सकता है जबकि ट्रस्ट और समान संस्थाएं के लिए खरीद की अधिकतम सीमा 20 किग्रा है। बांड खरीदने के लिए अपने ग्राहक को जानो (केवाईसी) संबंधी मानदंड उसी तरह के होंगे, जैसे कि बाजार से सोना खरीदते हुये होते हैं।  सरकार की सावरेन गोल्ड बॉंड योजना नवंबर 2015 में शुरू हुई थी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

x

COVID-19

India
Confirmed: 34,624,360Deaths: 470,530
x

COVID-19

World
Confirmed: 264,722,033Deaths: 5,241,976