Aawaz24 News
Aawaz24.com

BREAKING NEWS

संपत्ति के लिए बेटे ने ली मां-बाप की जान, गले पर निशान देखकर पुलिस ने पूछा तो कहा- कोरोना से हुई मौत

0 65,802

राजधानी पटना में एक बुजुर्ग दंपती की हत्या कर दी गई। घटना रामकृष्णानगर थानांर्गत शिवाजी चौक के समीप की है। गुरुवार की दोपहर इसका खुलासा होने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने तफ्तीश शुरू कर दी। मृतक की पहचान 70 वर्षीय किशोर प्रसाद और उनकी पत्नी 65 वर्षीय कमल लता देवी के रूप में की गई है। दोनों के गले पर जख्म के निशान हैं।

एसपी सिटी पूर्वी जितेंद्र कुमार के मुताबिक इस मामले की छानबीन के दौरान पुलिस ने मृतक के बेटे को हिरासत में लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है। प्रथम दृष्टया गला दबाकर हत्या करने की बात सामने आ रही है। हाथ में जख्म के निशान और कपड़े पर खून के धब्बे मिले हैं। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। किशोर प्रसाद पेशे से हाई स्कूल में फिजिकल इंस्ट्रक्टर थे। बेटे के साथ उनका कुछ संपती विवाद चल रहा था। उनके साथ उनका बेटा रंजीत कुमार उर्फ निप्पू, बहु व पोता रहता है। रंजीत प्राइवेट जॉ करता है।

अंतिम संस्कार करने जा रहा था कि पहुंच गयी पुलिस
शिक्षक का बेटे ने अपनी मां और पिता की मौत की खबर किसी को नहीं दी थी। शव को भी पानी से साफ कर दिया था। जब एक साथ पति-पत्नी की मौत की खबर आसपास के लोगों को मिली तो उन्हें शंका हुई। तब तक रंजीत अंतिम संस्कार की तैयारी कर चुका था। वह अपने माता-पिता के शव को लेकर निकलने ही जा रहा था कि तब तक पुलिस पहुंच गयी। इसके बाद रंजीत घबरा गया।

पुलिस से कहा- मां-पिता को कोरोना हो गया था 
जब पुलिस ने रंजीत से मां-पिता की मौत का कारण पूछा तो उसने कहा कि दोनों कोरोना हो गया था। इस पर पुलिस ने जांच सं संबंधित कागजात की मांग की। रंजीत उसे नहीं दिखा सका। पुलिस को उस पर  हुआ और अंत में जांच टीम उसे थाने ले आयी।

किशोर प्रसाद के भतीजे सोनू ने बताया कि रंजीत ने मुझे सूचना दिया कि पापा और मां की कोराना से मौत हो गई है। जब मैं आया तो जल्दी-जल्दी में अंतिम संस्कार की तैयारी में लगा हुआ था। साथ ही सोनू ने यह भी कहा कि जब हमलोगों ने रंजीत से सख्ती से पूछताछ की तो उसने कहा कि सुबह मां-पिता को उठाने आए तो देखे पिता दूसरी जगह मृत कमरे में पड़े हैं और मां दूसरी ओर हैं। रंजीत के मुताबिक इसके बाद उसने अपने घर वालों को खबर दी। स्थानीय लोगों के मुताबिक उन्होंने बुधवार तक किशोर को देखा था। वे स्वस्थ थे।

संपति को लेकर पिता से चल रहा था विवाद
जांच के दौरान यह बात सामने आई है कि रंजीत ने हाल ही में कुछ संपती की बिक्री कर दी थी। कुछ को अपने नाम करवा लिया था। बेटी की शादी के लिए उसने कुछ संपति बेच डाली थी। पिता इन सभी बातों का विरोध कर रहे थे। अक्सर उसके घर में पारिवारिक कलह होती था। एक ही घर में रहने के बावजूद मामं-पिता का खाना अलग बनता था। पिता अपनी पेंशन भी रंजीत को नहीं देते थे। कुछ दिन पहले किशोर ने अपने बेटे रंजीत के खिलाफ रामकृष्णानगर नगर थाने में मामला दर्ज करवाया था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

x

COVID-19

India
Confirmed: 31,812,114Deaths: 426,290
x

COVID-19

World
Confirmed: 199,970,282Deaths: 4,254,155