Aawaz24 News
Aawaz24.com

BREAKING NEWS

सोयाबीन के तेल में 150 फीसद का उछाल, रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचा पाम ऑयल, बिस्कुट, बेकरी प्रोडक्ट, साबुन, तेल, चॉकलेट, स्वीट होंगे महंगे

0 67,740

किचन का बजट खाद्य तेलों ने बिगाड़ दिया है। हरी सब्जियों से लेकर आलू-प्याज-टमाटर जहां सस्ता हुआ है, वहीं सरसों तेल से लेकर रिफाइंड तक के दाम पिछले एक साल में आसमान पर पहुंच गए हैं।  खाद्य तेल की महंगाई आम लोगों को कमर तोड़ने का काम कर रही है। हालात ये हैं कि पिछले एक साल में पाम ऑयल के दाम लगभग दोगुना से अधिक बढ़ गए हैं। वैसे सिर्फ पाम ऑयल ही महंगा नहीं हुआ है बल्कि सरसों, राइस ऑयल, तिल समेत सभी तेल के दाम में जबरदस्त उछाल आया है। उपभोक्ता मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली में सरसों को तेल (पैक्ड) दो महीने में 147 रुपये से बढ़कर 176 रुपये प्रति किलो हो गया है। मई 2020 में पाम ऑयल की कीमत 76 रुपये प्रति किलो थी, लेकिन एक साल बाद ही इसके कीमत दोगुनी हो गई।

महंगे पाम आयल का असर इन चीजों पर

पाम ऑयल का इस्तेमाल देश में पैकेटबंद फूड जैसे बिस्कुट, बेकरी प्रोडक्ट, साबुन, तेल, चॉकलेट, स्वीट और दूसरी चीजों में होता है। लिहाजा इनके दाम भी जल्द बढ़ सकते हैं।  होटलों, रेस्तरां में पाम ऑयल का इस्तेमाल होता है।

क्यों बढ़ रहे दाम

खाद्य तेल के कारोबार से जुड़े कारोबारियों का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में खाद्य तेल की कीमत आसमान छू रही है, जिसके चलते भारत में भी कीमत बढ़ी है। वहीं, विशेषज्ञों का कहना है कि इस साल चीन भी बड़े पैमाने पर अंतरराष्ट्रीय बाजार से खाद्य तेल खरीद रहा है, जिसके चलते दाम बढ़ गए हैं। खाद्य तेल की महंगाई भी लोगों के लिए आफत बनती जा रही है। वहीं, बाजार सूत्रों का कहना है कि खाद्य तेल की जमाखोरी से कीमतें तेजी से बढ़ी हैं।

खाद्य तेलों के दाम में इस तरह आया उछाल

 

खाद्य तेल कीमत (15 मई, 2020) कीमत (15 मई, 2021)
सरसों तेल 132 176
वनस्पति तेल 106 139
सोया तेल 121 158
सूरजमुखी तेल 132 196
मूंगफली तेल 178 196

स्रोत: उपभोक्ता मामले विभाग (मूल्य निगरानी डिवीजन)
कीमत: प्रति किलो दिल्ली में

Leave A Reply

Your email address will not be published.

x

COVID-19

India
Confirmed: 34,572,523Deaths: 468,554
x

COVID-19

World
Confirmed: 260,698,085Deaths: 5,191,438